इस माह का मानक


आईएस 17482:2020 – पेयजल आपूर्ति की प्रबंधन प्रणाली — पाइप पेयजल आपूर्ति सेवा के लिए अपेक्षाएं

 

पेयजल तक पहुंच के प्रावधान और उपलब्ध स्रोतों का प्रबंधन दोनों ही 21वीं सदी की वैश्विक चुनौतियां है। भारत की बढ़ती हुई आबादी के लिए सुरक्षित और पर्याप्त पेयजल की व्यवस्था एक बड़ी चुनौती है। सुरक्षित पेयजल की कमी लोगों के स्वास्थ्य और परिवेश को खराब कर सकती है।.

 

यह मानक रॉ वॉटर की उपलब्धता, उपचार और वितरण, प्रदान किए गए जल की गुणता और संबंधित जल आपूर्ति सेवाओं की अपेक्षाओं के साथ-साथ प्रबंधन के उत्तरदायित्व तक सीमित न होकर, जल उपयोगिता / सेवा प्रदाता की अपेक्षाओं को भी निर्धारित करता है। इस मानक आईएस/आईएसओ 9001 में प्रबंधन प्रणाली की अपेक्षाएं और आईएस 10500 में जल की गुणता की अपेक्षाएं शामिल है। उपलब्ध कराया गया जल आईएस 10500 में निर्धारित न्यूनतम पेयजल गुणता को पूरा करने वाला हो और गुणता में कोई भी समझौता किए बिना हर समय तथा हर स्थिति में उपभोक्ताओं को आसानी से और सहजता से उपलब्ध हो।.

 

इस मानक का उद्देश्य और लक्ष्य जल उपयोगिता के सेवा क्षेत्र में सभी को आईएस 10500 के अनुरूप जल आपूर्ति सेवाएं प्रदान करना तथा उपयोगकर्ताओं को निरंतर जल की आपूर्ति करना है।.

(English) national portal logo
(English) consumer affairs logo
(English) relief fund logo
iso
(English) isro logo
(English) iec image
(English) niti ayog logo
(English) digital india logo
(English) swach bharat logo
make in india logo
ghtc
Skip to contentBIS